सऊदी सरकार का बड़ा फैसला, गिरफ्तार हुए एक और धर्मगुरु, इन्हें भी लिया जायेगा हिरासत में !

सऊदी प्रमुख धर्मगुरु शेख सफार अल हवाली को उनकी पुस्तक में सऊदी शाही परिवार की आलोचना करने के लिए हिरासत में लिया गया था. हवाली को इससे पहले भी अमेरिकी सैनिकों के साथ सऊदी के संबंधों का विरोध करने के लिए जेल भेजा गया था. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकार प्रचारकों और ऑनलाइन कार्यकर्ताओं ने कहा कि एक सुन्नी विद्वान शेख सफार अल हवाली और सऊदी अरब के सहवा सुधारवादी आंदोलन में अग्रणी व्यक्ति को हिरासत में ले लिया गया.

आपको बता दें की शेख हवाली ने अपनी किताब में सऊदी के शाही परिवार की आलोचना की है जिसके चले सऊदी सरकार ने उनके खिलाफ इस तरफ का कदम उठाया है. इन दिनों सऊदी ने कई प्रमुख धर्मगुरु को बेवजह गिरफ्तार किया हुआ है. जिन्की रिहाई के लिए इंटरनेशनल कोर्ट ने सऊदी को आदेश दिए है.

मिडिल ईस्ट मॉनिटर के मुताबिक, ट्विटर पर चिंताओं के चलते सऊदी धर्मगुरु अब्दुलअज़ीज़ अल-फौजान को जल्द ही गिरफ्तार किया जा सकता है. ट्वीटर सूत्रों को रिपोर्ट मिली है कि अल-फ़ौज़ान को सऊदी अधिकारियों धमकियां मिल रही है. आको बता दें की हाल ही में अल फौजान ने सूद में शेखों की गिरफ्तारी पर सवाल उठाये थे. इसी के साथ उन्होंने बिन सलमान के सुधारों की आलोचना की थी जिसकी चलते सऊदी सरकार से उन्हें गिरफ्तारी की धमकियां मिल रहीं है.

अल-इमाम मुहम्मद इब्न सऊद इस्लामी विश्वविद्यालय में न्यायपालिका के उच्चतर संस्थान में तुलनात्मक न्यायशास्त्र के प्रोफेसर अल-फ़ौज़न ने एक रहस्यमय ट्वीट को अग्रेषित किया कि उन्हें गिरफ्तारी की चेतावनी दी जा रहीं है. उन्होंने यह कहते हुए ट्वीट किया: “हर जगह मेरे प्रियजन, मुझे अपनी दुआओं में याद करना ना भुलें, अल्लाह मदद करने वाला है. मेरी मदद भी करेगा.”
इनपुट: wna

Bitnami