सउदी के इन कोंपनियों में करते हैं काम तो पढ़ ले ये ज़रूरी ख़बर –> https://goo.gl/uqXbQg ख़बर अब विदेश मंत्रालय APP पर उपलब्ध होंगे.

जेद्दाह – सऊदी में लगभग 50 प्रतिशत कॉन्ट्रैक्ट कंपनियों को सरकारी परियोजनाओं के साथ-साथ वैश्विक मंदी के बाद से बिलों को मंजूरी देने में देरी के परिणामस्वरूप अपने कर्मचारियों के वेतन का भुगतान करने में कठिनाई हो रही है.

सऊदी अरब में लगभग 3.5 मिलियन प्रवासी अनुबंध यानी कॉन्ट्रैक्ट क्षेत्र में काम करते हैं. 300 अरब सऊदी रियाल के कुल निवेश के साथ सऊदी भर में लगभग 120,000 ठेका कंपनियां हैं. जो सऊदी समेत 4 मिलियन से अधिक श्रमिकों को रोजगार देते हैं.

 

2016 में, एक प्रसिद्ध कॉन्ट्रैक्ट कंपनी के 31,000 श्रमिकों ने श्रम और सामाजिक विकास मंत्रालय को एक याचिका प्रस्तुत की क्योंकि कंपनी ने कई महीनों तक अपनी सैलरी का भुगतान नहीं किया था. मंत्रालय के प्रवक्ता खलील अब्दलहेल ने इस मुद्दे पर उनकी टिप्पणी के लिए टेलीफोन कॉल का जवाब नहीं दिया.

 

अल-मदीना अरबी दैनिक से बात करने वाले तीन श्रमिकों में से एक ने कहा, “कानूनी कमी ने हमें हमारे नियोक्ता से 9 से 11 महीने तक हमें सैलरी नहीं मिली है.

 

सात साल पहले 1,600 सऊदी रियाल से 2,000 सऊदी रियाल के वेतन के लिए तीन कर्मचारी कंपनी में शामिल हुए. कंपनी ने उन्हें खाना और आवास प्रदान किया. एक कर्मचारी के रूप में काम करने वाले कर्मचारी ने कहा, “हम 2016 की शुरुआत तक समय पर अपना वेतन प्राप्त कर रहे हैं.” लेकिन अब हमारी सैलरी वक़्त पर नहीं मिल रही है जिसकी वजह से हमें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

उन्होंने कहा कि लगभग 150 श्रमिकों ने जेद्दाह में श्रम न्यायालय में कंपनी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई, जिसने श्रमिकों के पक्ष में अपना फैसला जारी किया लेकिन अभी तक कोई कानूनी कार्यवाही नहीं की गयी है.

Bitnami