ये हैं भागलपुर शहर के हरा# लड़के, लफ़ंगे और मजनू के आका, लड़की छेड़ते छेड़ते हुआ ये हाल

शहीद चौक पर राह चलती तीन छात्राओं से छेड़खानी करना लफंगों को महंगा पड़ा। छात्राओं ने हिम्मत दिखाई, तो परिजन और आसपास के लोगों की मदद से दोनों लफंगे पकड़े गए और दो फरार हो गए। इनमें अखिलेश साह उर्फ निखिल (मारवाड़ी पाठशाला के पास) और मिठाई दुकानदार अभिषेक कुमार (इशाकचक ) का नाम शामिल है। जिन्हें कोतवाली पुलिस के हवाले कर दिया।

मौके से इनका एक साथी भरत साह और एक अन्य भाग गया। मामले में एक छात्रा ने कोतवाली थाने में उक्त के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। कोतवाली पहुंची छात्राओं ने पुलिस से कहा कि, सर इन लफंगों को कड़ी से कड़ी सजा दीजिए, 20 दिनों से परेशान कर रखे थे। इस दौरान छात्राओं ने पुलिस को बताया कि रोजाना वह अपनी सहेलियों के साथ घंटाघर चौक स्थित कोचिंग जाती हैं।

 

शहीद चौक पर पहले से बुलेट लगाकर उक्त लड़के खड़े रहते हैं और उन्हें देखकर गंदी हरकतें करते हैं, बाइक पर बैठने को कहते हैं। विरोध करने पर गालियां और उठा ले जाने की धमकी देते हैं।

 

मिठाई दुकान पर होती है अड्डेबाजी

छात्राओं ने पुलिस को बताया कि शहीद चौक पर बजरंगबली मंदिर के पास के मिठाई दुकान में लफंगों की अड्डेबाजी होती है। सभी वहीं से राह चलती लड़कियों को छेड़ते हैं। पुलिस ने तहकीकात की तो पता चला कि उक्त मिठाई दुकान अभिषेक की है। पुलिस ने जब अभिषेक से पूछताछ की तो हरकतों पर पर्दा डालने लगा।

 

 

छात्राओं ने रास्ता तक बदला पर हरकतों से बाज नहीं आए शोहदे

कोतवाली पुलिस के मुताबिक पिछले 20 दिनों से चारों लफंगे युवक लगातार छात्राओं को छेड़ रहे थे। इनके भय से छात्राआें ने कोचिंग जाने का समय और रास्ता दोनों बदल दिया था। फिर भी वे अपनी हरकतों से बाज नहीं आए। चारों पीछा करते हुए कोचिंग तक पहुंच गए। छुट्टी के बाद घूरते थे। गुरुवार को शहीद चौक पर चारों ने हाथ पकड़ लिया और छेड़ने लगे। किसी तरह छात्राएं भाग कर घर पहुंची और अपने परिजनों को बताया। इसके बाद परिजन शहीद चौक पहुंचे और लोगों की मदद चार में दो लफंगों को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस बाकी बचे युवकों की तलाश कर रही ह

Bitnami