भागलपुर बालगृह मामले में बड़ी कार्रवाई, TISS के रिपोर्ट के बाद हुआ तगड़ा एक्शन

भागलपुर के बालगृह मामले में बड़ी कार्रवाई की गई है. टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ सोशल साइंसे के रिपोर्ट के बाद यह तगड़ा एक्शन लिया गया है. बता दें कि भागलपुर स्थित बालगृह के पूर्व अधीक्षक प्रदीप शर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया है. उन पर बाल गृह में बच्चों के साथ मारपीट और दुर्व्यवहार का आरोप है. इस आरोप के बाद शर्मा को औद्योगिक प्रक्षेत्र थाना पुलिस ने की कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार किया.

दरअसल टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ सोशल साइंसेस(TISS)के सोशल ऑडिट रिपोर्ट में भागलपुर के बालगृह में गड़बड़ियां पायी गयी थी. ये गड़बड़ियां प्रदीप शर्मा के कार्यकाल में हुई थी. इससे पहले इसी मामले में 18 जुलाई को बालगृह संचालक रूपम प्रगति समाज समिति के संचालक और अन्य पर जेजे एक्ट के तहत केस दर्ज हुआ था.

मालूम हो कि टाटा इंस्टिटयूट ऑफ सोशल साइंस ने बिहार के कई जिलों में संचालित बालक-बालिका गृह समेत शेल्टर होम्स में गड़बड़ियों को उजागर किया है. मौजूदा समय में मुजफ्फरपुर बालिका आश्रय गृह कांड का मामला चर्चा का विषय बना हुआ है. इस मामले में लगभग रोज नए खुलासे हो रहे हैं. इस कांड से पूरा बिहार शर्मसार हो उठा है.

Bitnami