देश में बड़ा हादसा, 1-दर्जन मौतों से कराहा देश, मौक़े पर कोहराम

भरभरा कर गिरीं दो बहुमंजिला इमारतों के मलबे से राहत एवं बचाव कर्मियों ने गुरुवार को और एक शव बाहर निकाला. इसके साथ ही हादसे में मरने वालों संख्या बढ़कर नौ हो गयी है. पुलिस ने अभी तक इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है.

मुख्य दमकल अधिकारी अरुण कुमार सिंह ने बताया कि आज सुबह मलबा हटाने के दौरान और एक शव बरामद हुआ है. उसकी पहचान नौशाद के रूप में हुई है. उन्होंने बताया कि बुधवार देर रात तक आठ शव निकाले गये थे. राहत कर्मियों ने अभी तक कुल नौ शव मलबे से निकाले हैं. अभी भी कई लोगों के अंदर फंसे होने की आशंका है.

 

कुमार ने कहा कि मलबा पूरी तरह से हटाने में अभी और 20 घंटे का समय लग सकता है. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के जवान अंदर फंसे लोगों को खोजी कुत्तों की मदद से ढूंढने का प्रयास कर रहे हैं. पुलिस ने बताया कि शहर के बिसरख थाना क्षेत्र के शाहबेरी गांव में अवैध रूप से बनाई जा रही छह मंजिला इमारत बुधवार की रात को भरभरा कर पड़ोस में ही बनी पांच मंजिला इमारत पर गिर गयी थी. हादसे में अभी तक नौ लोग मारे गये हैं.

 

इनमें से अभी तक छह लोगों की पहचान नौशाद, शमशाद, राजकुमारी, प्रियंका, रंजीत और पंखुड़ी (14 माह) के रूप में हुई है. पुलिस अन्य लोगों की पहचान का प्रयास कर रही है. उत्तर प्रदेश सरकार ने मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपये आर्थिक मुआवजा देने की घोषणा की है. बिसरख पुलिस ने 24 लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया है. अभी तक चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

 

उत्तर प्रदेश सरकार ने हादसे के बाद ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक व सहायक महाप्रबंधक को कल रात तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया, जबकि विशेष कार्य अधिकारी का तबादला कर दिया गया है. गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी बृजेश नारायण सिंह ने कल ही मामले की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दे दिये थे. जांच अपर जिलाधिकारी प्रशासन कुमार विनीत सिंह द्वारा की जा रही है.

Bitnami