रांची के रिम्स में अपना इलाज करा रहे राजद मुखिया लालू प्रसाद यादव ने शायराना अंदाज में एक ट्वीट किया है. उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि मैं इंकलाब पसंदों की इक क़बील से हूं, जो हक़ पे डट गया उस लश्कर ए क़लील से हूं। मैं यूं ही दस्त ओ गरीबां नहीं ज़माने से, मैं जिस जगह पे खड़ा हूं किसी दलील से हूं।

लालू ने एक मैगजीन के हवाले से किए गए ट्वीट पर रिट्वीट करते हुए लिखा है कि चारा घोटाले में सजा काट रहे कैदी बने लालू प्रसाद यादव आज भले ही कमजोर हो गए हैं। लेकिन सच ये है कि बिहार और बिहार के बाहर आज भी 2019 किंगमेकर की भूमिका निभा सकते हैं।

गौरतलब हो कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की जमानत याचिका रांची हाईकोर्ट ने रद कर दी है और उन्हें जमानत नहीं मिल सकी है। इसबार भी लालू यादव मकर संक्रांति के मौके पर जेल में ही चूड़ा-दही खाएंगे औऱ रात में खिचड़ी खाएंगे।