Jul 3, 2018
4780 Views
Comments Off on भागलपुर में बारिश का क़हर, धंसी सड़क, 25 KM लम्बा जाम, नैशनल लेवल पर शहर की थू थू
0 0

भागलपुर में बारिश का क़हर, धंसी सड़क, 25 KM लम्बा जाम, नैशनल लेवल पर शहर की थू थू

Written by

जर्जर हाई-वे पर भारी वाहनों के खराब होने और धंसने के कारण सोमवार को एनएच 80 पर 25 किमी लंबा जाम लग गया। इसमें हजारों गाड़ियां, स्कूली बसें और एंबुलेंस फंसी रहीं।

 

जाम में फंसे दो हजार से अधिक छात्र 2 से ढाई घंटे की देरी से सुबह स्कूल पहुंचे। माउंट असीसी स्कूल में ढाई घंटे देरी से परीक्षा शुरू हुई। वहीं, कहलगांव के त्रिमुहान के पास जाम के कारण दोपहर 1.30 बजे हुई छुट्टी के बाद शाम सात बजे तक बच्चे घर नहीं पहुंचे थे। जाम में फंसे बच्चे व अभिभावक प्रशासन को इस बात के लिए कोसते रहे कि प्रशासन जाम से निजात के लिए कोई ठोस व्यवस्था क्यों नहीं बनाता। अधिकारी सिर्फ जाम रोकने को लेकर मीटिंग करने में व्यस्त हैं। धरातल पर इसका कोई असर नहीं दिखता है। माउंट असीसी स्कूल के प्रिंसिपल फादर जोश थेक्कल ने बताया कि जाम के कारण बच्चों को लगातार परेशानी हो रही है। प्रशासन को चाहिए कि इसके लिए समुचित व्यवस्था करे।

 

जर्जर हाई-वे पर चार वाहन खराब
सोमवार को सबौर के खनकित्ता और इंग्लिश में जर्जर सड़क पर चार भारी वाहन खराब हो गए थे। कई जगहों पर कीचड़ में गाड़ियां फंस गई थीं। इसके कारण जीरोमाइल से लेकर त्रिमुहान तक दोनों ओर से भारी वाहनों की कतारें लग गईं। जाम के कारण राहगीरों को काफी परेशानी हुई। कई लोग समय से गंतव्य तक नहीं पहुंच सके। हालांकि, बीच-बीच गाड़ियां निकाली जा रही थीं लेकिन रफ्तार इतनी धीमी थी कि सुबह से शाम तक जाम लगा रहा।

 

34 घंटे बाद एनएच के गड्ढे से निकाला जा सका हाइवा
जर्जर हाई-वे पर लग रहे जाम को लेकर प्रशासन कितना संजीदा है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि शनिवार-रविवार की रात दो बजे के आसपास इंग्लिश में एनएच पर गड्ढे में छर्री लदा हाइवा फंस गया था। इसे निकालने में पुलिस को 34 घंटे लग गए। इसके कारण रविवार से ही जाम लग रहा है। लोगों ने बताया कि अगर प्रशासन इसे तत्परता से हटा लिया होता तो सोमवार को जाम नहीं लगता।

 

हाई-वे पर बने जानलेवा गड्ढों में फंसी रहीं गाड़ियां
जीरोमाइल से रानीतलाब व खनकित्ता से लेकर इंग्लिश मोड़ तक हाई-वे पर सैकड़ों बड़े-बड़े गड्ढे उभर गए हैं। इन गड्ढों में रोज बड़ी से लेकर छोटी गाड़ियां फंस रही हैं। कई बार राहगीर दुर्घटना के शिकार हो जाते हैं। अभी एक सप्ताह पहले भी इंजीनियरिंग कॉलेज के पास तालाबनुमा गड्ढे हो गए थे, जिसमें लगातार ट्रक फंस रहे थे। यहां रहने वाले लोगों का आरोप है कि जिला प्रशासन न तो एनएच को दुरुस्त करवा रहा है और न ही जाम रोकने के लिए उनके पास कोई ठोस रणनीति है।

 

घोषपुर से लेकर इंग्लिश मोड़ तक हाई-वे पर एक-एक फुट कीचड़ जमा है। कई जगहों पर दो से तीन फुट लंबी-चौड़ा गड्ढे हैं। कई जगहों पर सड़क बिल्कुल दिख ही नहीं रही है। वहां सिर्फ कीचड़ पसरा है। कई लोगों ने बताया कि इन गड्ढों में अक्सर बाइक सवार फिसल जाते हैं।

 

जर्जर हाई-वे पर भारी वाहनों का खराब होना जारी
रविवार को फरका, घोषपुर और खनकित्ता के पास तीन भारी वाहन खराब हो गये थे। इसके कारण जाम लग गया था। सोमवार की सुबह भी घोषपुर, फरका और घोषपुर पुलिया के पास ट्रक खराब हो गए थे। इसके कारण जाम लग गया।

 

जाम को लेकर डीएम ने आज बैठक बुलायी
डीएम प्रणव कुमार ने कहा कि शहर में जाम से निजात के लिए मंगलवार को बैठक बुलायी गयी है। बैठक में नो इंट्री के समय में बदलाव पर विचार किया जाएगा। ऐसी व्यवस्था की जाएगी कि स्कूली बच्चों को परेशानी नहीं हो।

Article Categories:
Bina baat ke baat