गोड्डा के सांसद निशिकांत दुबे ने फिर से भागलपुर को दोहरा तोहफ़ा दिया हैं, और तोहफ़ा भी ऐसा जो मौजूदा सांसद को देना चाहिए था, आइए जानते हैं की निशिकांत दुबे ने भागलपुर के कौन से अनछुए पहलू को निशिकांत दुबे ने उभारा हैं.

 

अगर सबकुछ योजना के मुताबिक हुआ था तो आने वाले दिनों में कहलगांव वासियों को घेरलू गैस सिलेंडर के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। गैस पाइप लाइन के जरिए घरों तक गैस पहुंच जाएगा।

 

गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे ने रविवार को एनटीपीसी के मानसरोबर गेस्ट हाउस में कहा कि भागलपुर जिले में जल्द ही पाइप लाइन से घरेलू गैस की आपूर्ति होने लगेगी। इस योजना में कहलगांव भी शामिल है। फरवरी के अंतिम सप्ताह में कार्य शुरू हो जाने की उम्मीद है। यह भागलपुर के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। भागलपुर के बाद मुंगेर और जमुई जिले में भी गैस पाइप लाइन बिछाई जाएगी। सांसद के साथ लोजपा के नीरज मंडल, भाजपा के विन्देश्वरी झा आदि थे।

 

 

विक्रमशिला बटेश्वरस्थान से गंगापार कटरिया तक रेल लाइन का होगा निर्माण

गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे ने कहा कि विक्रमशिला बटेश्वरस्थान से गंगा पार कटरिया तक रेल लाइन निर्माण और गंगा में रेल पुल के लिए भी नीति आयोग से योजना की स्वीकृति मिल गई है। केबिनेट से पास होना बाकी है। इसपर 25 सौ करोड़ रुपये खर्च होंगे। चुनाव आचार संहिता के पूर्व इसके शिलान्यास की योजना है। तीन साल में यह बनकर तैयार हो जाएगा।

 

 

एनटीपीसी एमजीआर पथ निर्माण का एक मार्च को करेंगे शिलान्यास

गोड्डा सांसद ने कहा कि एनटीपीसी के जर्जर पड़े एमजीआर पथ के निर्माण का वे एक मार्च को शिलान्यास करेंगे। इस बीच जो भी बाधाएं हैं वह एनटीपीसी दूर कर ले। इस मुद्दे पर उन्होंने एनटीपीसी कहलगांव के समूह महाप्रबंधक केश्रीधर से भी बात की। सांसद ने कहा कि दो साल पूर्व ही करीब 75 करोड़ रुपये सड़क निर्माण के लिए फंड आवंटन हो चुका है। एनटीपीसी प्रबंधन की लटकाउ नीति के चलते ही निर्माण का मामला अटका हुआ है। एनटीपीसी के सीआरएस द्वारा जो सड़क बनाई जा रही है वह कुछ ही दिनों में जर्जर हो गई है। यही हाल भवन का भी है।