‘घर आकर मीट खा लीजिए, दारू पीजिए; पर प्रति ट्रक 6 हजार रुपए देना पड़ेगा’

बाराचट्टी थानाध्यक्ष के रूप में तैनात आईपीएस अधिकारी हृदयकांत के सरकारी चालक प्रमोद राय ट्रक के मालिक से कहता है कि आइए, दारू पी लीजिए, मीट खा ला लीजिए, लेकिन 6 हजार रुपए प्रति ट्रक से कम नहीं होगा।

ट्रक मालिक काफी मान मनौव्वल करता है, प्रति ट्रक 5 हजार रुपए देने के लिए तैयार होता है, लेकिन आईपीएस का चालक धौंस दिखाता है और बर्बाद कर देने का धमकी भी देता है। कुछ इस तरह के सामने आए वायरल ऑडियो से यह सब कुछ खुलासा हो रहा है।

पत्थर और गिट्टी से लदे ट्रकों को अवैध तरीके से चलाने के एवज में आईपीएस अधिकारी का चालक प्रमोद राय ट्रक मालिक से प्रतिदिन पांच हजार रुपए रिश्वत की मोल भाव करता है। ऑडियो में चालक यह भी कह रहा है कि दो ट्रक चलाने के बदले उसे दूसरे ट्रक मालिक से 18 हजार रुपए रोज मिल रहे हैं। इसी सप्ताह डुमरिया थाना के मुंशी को रिश्वत लेने में निलंबित किया गया।

कम पैसे देने पर पकड़वा देने की धमकी
वायरल ऑडियो में थाना में ट्रेनी के रूप में तैनात आईपीएस अधिकारी के चालक प्रमोद राय ट्रक मालिक को धमकी देता है कि यदि कम पैसे देगा तो यहां से निकालकर आगे पकड़वा देगा।

चालक यह भी कहता है कि मंटू से दो गाड़ी के एवज में 18 हजार रुपए लिया है। इसलिए वह ट्रक मालिक से प्रतिदिन के हिसाब से एक ट्रक छर्री या पत्थर चलवाने के लिए पांच हजार मांगता है। वह ट्रक मालिक को काफी समझाता है। और बार बार ठहाके भी लगाता है। ट्रक मालिक अपने ट्रक को चलवाने के लिए पुलिस चालक को चार हजार देने के लिए तैयार होता है।

धौंस जमाने को आईपीएस की गाड़ी से निकलता था
सोर्स बताते हैं कि जब कभी आईपीएस हृदयकांत अपने कक्ष में आराम करते हैं या फिर थाना में जरूरी फाइल देखते हैं। उस समय चालक प्रमोद राय उनके वाहन को लेकर हाइवे पर निकल जाता है और ट्रक चालकों पर धौंस दिखाता है कि इतना पैसा चाहिए अन्यथा आपकी ट्रक पकड़ी जाएगी। वह क्षेत्र में दिखाना चाहता था कि एएसपी के सबसे नजदीकी वह है।

ऑडियो का हो रहा सत्यापन: एएसपी
वायरल ऑडियो उन्हें भी मिला है। तकनीकी रूप से इसका सत्यापन कराया जा रहा है। दोषी पाए जाने पर चालक के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। इस मामले को उन्होंने गंभीरता से लिया है और वरीय अधिकारियों को भी जानकारी दी है। हृदयकांत, थानाध्यक्ष सह प्रशिक्षु आईपीएस

बातचीत के कुछ अंश
ट्रक मालिक- दो गाड़ी के देलको कितना, हमनी से कुछ ले ह और मंटूआ से कुछ ले ह, गलत मत करिह।
पुलिस चालक- दो गाड़ी के अठारह हजार।

ट्रक मालिक-झूठ बोलअ ह प्रमोद भईया, ई विश्वास करे लायक न हब।
पुलिस चालक-ज्यादा तेज बनतई न, यहां से निकलबा देबई और आगे धरवा देबई।

ट्रक मालिक-जितना मंटूआ दे हब उतना देबो।
पुलिस चालक-पांच हजार, लेकिन सबसे कम तू देता है।

ट्रक मालिक-पांच गाड़ी से 25 हजार कल पहुंचा दे हिओ।
पुलिस चालक-छ पचे तीस यानि तीस हजार।

ट्रक मालिक-एक हजार ल लड़ाई न करअ, भोरे 25 हजार पहुंचा दे हिओ।
ट्रक मालिक-आज पांचो गाड़ी पार होबे द। कल पैसा पहुंचा देबो।

पुलिस चालक-अह, तु आबअ मीट खा लिह, दारू पी लिह। लेकिन 6 हजार से कम न होतो।
साभार:dainikbhaskar

Bitnami